दिल्ली आर्य प्रतिनिधि सभा

Just another Jagranjunction Blogs weblog

189 Posts

69 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 23256 postid : 1128431

स्वाभिमान की रक्षा करो मोदी जी ?

Posted On: 5 Jan, 2016 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

भले ही केंद्र सरकार और सुरक्षा एजेंसिया कह रही हो कि पठानकोट हमला विफल हो गया लेकिन इस बात को कौन नकार सकता है कि छह आतंकियों के हमले द्वारा सात जवान शहीद हो चुके है और बीस जवान घायल है क्या इसे हम विफल साजिश कह सकते है? जहाँ ग्रहमंत्री राजनाथ सिंह ने इसे पाकिस्तान की साजिश कहने में देर नहीं लगाई खुफियां विभाग ने अपनी प्रथम जाँच में साबित कर दिया कि हमला पाक प्रायोजित था वहां ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतनी सहजता से यह दिया कि “यह मानवता के दुश्मनों का हमला है!”  कुछ समय पहले तक इस प्रकार के हमले पाकिस्तान के द्वारा होते थे और तब पाकिस्तान को आँखे लाल कर देख लेने की सलाह दी जाती थी अब यह हमले मानवता के दुश्मनों के द्वारा हो गए?  आखिर, शब्दों में यह हेर-फेर किसलिए माननीय प्रधानमंत्री जी! और इससे क्या हासिल होगा? अब इन हमलों की निंदा नहीं, स्वाभिमान की रक्षा करो राजन!! देश के जवानों के इस बहते  लहू में आत्मसम्मान की कलम डुबोकर दुश्मन के माथे पर हत्यारा लिख दुनिया को उसका चेहरा दिखा दो अब शांति के पथ पर अपना कर्तव्य बोध भी मत भूलो राजन! आपने जापान के प्रधानमंत्री को गीता भेट की थी उसमे एक पंक्ति यह भी थी कि युद्ध भूमि में खड़ा अर्जुन कह रहा था, माधव मेरा गांडीव कांप रहा है, मेरे हाथों की त्वचा जल रही है, मुझसे खड़ा नही हुआ जा रहा है, मै युद्ध नहीं लडूंगा तब योगिराज कृष्ण ने कहा था हे अर्जुन! नपुंशक मत बनो युद्ध करो|

अभी पंजाब के गुरदासपुर जिले के दीनानगर थाने पर हुए आतंकी हमले के घाव नहीं सूखे थे कि पांच महीने बाद शनिवार तडके पठानकोट में एअरफ़ोर्स बेस पर आतंकियों ने हमला बोल दिया पाकिस्तान सीमा से महज 20 किलोमीटर दुरी पर स्थित एअरफोर्स बेस में घुसे आतंकी भी पाकिस्तान की ही देन थे| हालाँकि पाक सरकार भले ही समूचे विश्व के सामने इस घटना की निंदा कर रही हो लेकिन सब जानते है आज पाकिस्तान की हालत सोमालिया जैसी होती जा रही है| आज पाकिस्तान में कट्टरपंथी मौलाना, आईएसआई और सेना काबिज है उसे देखकर लगता है की वहां लोकतंत्र बस दिखावे की दुकान है अन्दर हिंसा, हत्या, आतंकवाद दानवता भरी पड़ी है| अब इन सब के बावजूद यदि भारत सरकार पाकिस्तान के साथ शांति के दरवाजे खोलना चाहती है तो उस मार्ग से श्वेत कबूतर की जगह आतंकवाद ही आएगा| क्योंकि उनके पास और कुछ है भी नहीं| अब इस अवस्था में यदि भारत फिर पाकिस्तान के साथ मेज पर बैठता है तो हम इसे कूटनीति की बजाय मुर्खता कह सकते है!! क्योंकि घाव भी हम ही खाये और वार्ता के लिए भी हम ही आगे बढ़ते है तो यह हमारा कमजोर होना दर्शाता है| हमें इजराइल से सीखना होगा कि यदि अपना धर्म, अपनी संस्कृति, अपनी अखंडता, प्रभुसत्ता बचाये रखनी है तो अपनी कमजोरी नहीं अपनी ताकत दिखानी होगी हमे सोचना होगा कि यह चुल्लू भर पानी क्यों बार-बार सागर को आँखे दिखा रहा| हमे अपनी आँखे लाल कर पाकिस्तान को समझाना होगा कि क्षमा गलती के लिए होती है, पाप के लिए नहीं| भारत सरकार को समझना होगा की आतंकवाद और पाकिस्तान एक इन्सान के दो नाम की तरह है| क्योंकि मस्जिद, मदरसों में पलने वाले अस्सी फीसदी मजहबी मानसिकता से ग्रस्त लोगों के बिना तो पाकिस्तान का वजूद नहीं और बिना पाकिस्तान उन लोगों का वजूद नहीं तो फिर मित्रता का औचित्य क्या है? भारत के विरोध और उससे मिलने वाले चंदे से चल रहा आतंकी कारोबार ही पाकिस्तान का असली वजूद है असली संस्कृति है, नफरत के आधार पर खड़ा हुआ देश हमे कभी प्रेम के पुष्प नहीं सोंप सकता| अब भारत सरकार को समूचे विश्व के सामने पाकिस्तान के रहनुमाओ से साफ-साफ पूछ लेना चाहिए कि पाकिस्तान में चल रहे आतंकी केम्पों को वो खुद खत्म करे या हमे करने दे हम ये मानवीय त्रासदी और नहीं सह सकते|

आज हमारे सात जवान शहीद हुए जिनकी शहादत पर देश गर्व कर रहा किन्तु हम दुखी है और नम आँखों से उन वीर जवानों के पार्थिव शरीर को नमन करते हुए कहते है लहु देकर तिरंगे की बुलंदी को सवाँरा है| फरिस्ते हो तुम वतन के तुम्हे सजदा हमारा है|| शत् शत् नमन

राजीव चौधरी

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

2 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

rameshagarwal के द्वारा
January 5, 2016

जय श्री राम पठानकोट का हमला बहुत दुखदाई है पूरा देश दुखी है परन्तु खुशी होनी चाइये की एयरबेस को कोई नुक्सान नहीं पहुंचा सके जिसके लिए हमारे सैनको की बहादुरता प्रशंसनीय है और हमें गर्व लेकिन प्रधान मंत्री इसे बहुत गंभीरता से ले रहे इस वक़्त इसपर कांग्रेस और शिव सेना की राजनीती दुर्भाग्य पूर्ण और निंदनीय है जो गलतिय हुई उससे सबक लेना चाइये

Mellie के द्वारा
July 11, 2016

David,Robin is right. It is you that must show how we are wrong. You ca#8t&217;n. We are right. What we believe is the biblical position. What you promote is not. You are the one who is simply blowing smoke rings in the dark.I tell you what I would also like to see you prove. Prove there were only eleven people who heard Jesus mandate the GC. Prove that. I would really like to see that.cb


topic of the week



latest from jagran